featured image

इंडियन फेडरेशन ऑफ जनर्लिस्ट  के प्रादेशिक सम्मेलन एवं गणेश शंकर विद्यार्थी अलंकरण समारोह में बृजमोहन ने बेबाकी से रखी अपनी बात।

रायपुर/24/07/2018/इंडियन फेडरेशन ऑफ जनर्लिस्ट  के प्रादेशिक सम्मेलन एवं गणेश शंकर विद्यार्थी अलंकरण समारोह में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे छत्तीसगढ़ के कृषि एवं सिंचाई मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने पत्रकार और पत्रकारिता पर पूरी गंभीरता के साथ अपनी बात रखी। बृजमोहन ने कहा की एक दौर था जब पत्रकारों की कलम रोकने की ताकत ना तो अखबार मालिक मे थी और ना ही संपादकों में। परंतु आज पत्रकार निरीह हो गए है। पत्रकारों का मान सम्मान बाजारवाद की भेंट चढ़ता दिखाई दे रहा है।

बृजमोहन ने कहा कि पत्रकारिता में बहुत ताकत है। इस ताकत का देश व समाज हित में सदुपयोग होना चाहिए। परंतु देखा जाता है कि किसी ने ठान लिया कि पत्रकारिता के माध्यम से किसी को बदनाम करना है तो वह किसी भी हद तक जाकर यह काम कर जाता है। परंतु क्या यह पत्रकारिता के हित में हैं यह सवाल पूरी पत्रकार बिरादरी का है? पत्रकारों का काम आइना दिखाना है। आप आईना दिखाइये बिना पक्षपात के। क्योंकि आज पत्रकारिता पर विश्वास कम हुआ है।चारों ओर अविश्वास के बादल छाए हुए है। इस विश्वास को पुनः हासिल करना है।

बृजमोहन ने अपने अनुभव साझा करते हुए कहा कि मैं वरिष्ठ पत्रकार स्व. गोविंद लाल वोरा, स्व.बबन मिश्र जी,स्व.प्राभाकर चौबे, श्री रमेश नैयर जी सभी को स्वाभविक तौर पर चाय पर आमंत्रित करता रहा हु। पर गर्व अनुभव तब होता था जब वे मुझे अपने यहा बुलाते थे और मैं उनके घर जाकर उनके साथ चाय पीता था। मेरी नज़रों में उन पत्रकारों का कद बहुत ऊंचा रहा है। रायपुर ही नहीं भोपाल दिल्ली तक के पत्रकारों से मेरी अच्छी मित्रता है और यह मित्रता पूरे 28-30 सालों की है। इसलिए पत्रकारों की पीड़ा को महसूस कर सकता हूं।

निरंजन धर्मशाला में आयोजित इस कार्यक्रम में श्री अग्रवाल ने प्रदेश भर से आए हुए पत्रकार साथियों को प्रतीक चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया। इस कार्यक्रम में महिला बाल विकास मंत्री रमशीला साहू,संगठन के राष्ट्रीय महासचिव परमानंद पांडे, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह सवन्नी, औद्योगिक विकास निगम के अध्यक्ष छगन मूंदडा,फिल्म निर्माता प्रख्यात कलाकार योगेश अग्रवाल, संगठन के राष्ट्रीय सचिव परमानंद पांडे,मधुकर द्विवेदी,अनिल द्विवेदी, यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष ईश्वर दुबे,सतीश बौद्ध,पवन बंजारे उपस्थित थे।