featured image

महासमुंद जिले को आज शासकीय कृषि महाविद्यालय की सौगात मिली। कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने आज शाम महासमुंद के नजदीक ग्राम कांपा में जिले के नये शासकीय कृषि महाविद्यालय का शुभारंभ किया। श्री अग्रवाल ने शुभारंभ समारोह में ही कृषि महाविद्यालय का नामकरण पूर्व केन्द्रीय मंत्री स्वर्गीय पुरूषोत्तम लाल कौशिक के नाम पर करने की घोषणा की। श्री अग्रवाल ने इस अवसर पर महासमुंद जिले के दस स्थानों में हाट बाजार विकसित करने भूमिपूजन भी किया। एक हाट बाजार का लोकार्पण भी उन्होंने किया। नये कृषि महाविद्यालय का संचालन अभी कांपा में छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के मोटल में किया जाएगा। महाविद्यालय का नया परिसर कांपा में ही 200 एकड़ में विकसित होगा।
बृजमोहन अग्रवाल ने इस अवसर पर कहा कि इस वर्ष छह नये शासकीय कृषि महाविद्यालय खोले जा रहे हैं। इनमें से एक महाविद्यालय महासमुंद जिले में खुल रहा है। महासमुंद जिले के निवासियों के लिए यह उपलब्धि है। श्री अग्रवाल ने कहा कि महासमुंद जिला भी बागवानी की खेती में अपनी पहचान बना रहा है। महासमुंद के किसानों में फल-फूलों और साग-सब्जियों की खेती तेजी से लोकप्रिय हो रही है।
 श्री अग्रवाल ने कहा कि कांपा के कृषि महाविद्यालय परिसर को इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर के सेटेलाईट सेंटर के रूप में विकसित किया जाएगा। उन्होंने कार्यक्रम में महासमुंद विधानसभा क्षेत्र के रामखेड़ा, लाफिनखुर्द, खैरझिटी, चिंगरौद, झलप और बम्हनी तथा खल्लारी विधानसभा क्षेत्र के तेन्दूकोना, भुरकोनी, मुनगासेर तथा कोमाखान में विकसित होने वाले हाट बाजार का भूमिपूजन किया। इन हाट बाजारों के लिए मंडी बोर्ड से छह करोड़ 38 लाख 43 हजार रूपए स्वीकृत किए गए हैं। कृषि मंत्री ने सरायपाली के केदुआ में 59 लाख 41 हजार रूपए की लागत से विकसित हाट बाजार का लोकार्पण भी किया।
 इस अवसर पर लोकसभा सांसद चन्दूलाल साहू, विधायक डॉ. विमल चोपड़ा, विधायक  चुन्नीलाल साहू, विधायक  रामलाल चौहान तथा इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एस.के. पाटील ने भी सम्बोधित किया। जिला पंचायत महासमुंद की अध्यक्ष श्रीमती अनिता पटेल,भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष पूनम चंद्राकर सहित अन्य स्थानीय जनप्रतिनिधि और आम नागरिक उपस्थित थे।