featured image

●जल संसाधन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने बनायी कार्ययोजना,शासन का आदेश हुआ जारी
रायपुर/03/04/2018| प्रदेश के जल संसाधन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने जल संरक्षण और संवर्धन की दिशा में आगे बढ़ते हुए एक अभिनव कार्ययोजना बनायी है। जिसके तहत छत्तीसगढ़ राज्य की प्रमुख नदियां जिनका उद्गम स्थल छत्तीसगढ़ राज्य में ही है उन नदियों के उद्गम स्थल के पुनर्जीवन एवं उनके जल ग्रहण क्षेत्र के विकास के लिए प्रदेश स्तर का समूह बनाकर योजनाबद्ध ढंग से कार्य किये जायेंगे।  

इस समूह में विभागीय तकनीकी अधिकारियों के साथ-साथ समाज के विभिन्न क्षेत्रों मे कार्यरत प्रबुद्धजन जैसे इतिहासकार, साहित्यकार, लेखक, पत्रकार, पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में काम कर रहे समाजसेवियों व समाजसेवी संस्थाओं के वरिष्ठ लोगों को शामिल किया जाएगा।

श्री अग्रवाल ने सचिव जल संसाधन को पत्र लिखकर इस हेतु कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए थे। जिसमे उन्होंने मुख्य अभियंता स्तर के अधिकारी को नोडल अधिकारी बनाए जाने तथा टीम का गठन शीघ्र करने के लिए बात कही थी। इस संबंध में 2 मार्च 2018 को संयुक्त सचिव जल संसाधन विभाग ने आदेश जारी कर दिया है। जिसके अनुसार मुख्य अभियंता महानदी जलाशय परियोजना रायपुर एसवी भागवत को नोडल अधिकारी बनाया गया है। साथ ही नदी विशेष कार्य योजना हेतु संबंधित अधीक्षण अभियंता स्तर के अधिकारी वन व अन्य विभागों से समन्वय स्थापित करेंगे।

इस कार्ययोजना के बारे में जल संसाधन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि नदियां ही हमारी जीवन रेखा है। इसीलिए जीवनदायिनी नदियों को बचाने के लिये हम निरंतत प्रयासरत है। इसी के तहत नदियों के उद्गम स्थल को स्वच्छ करते हुए उसे पुनर्जीवित कर जल प्रवाह अनवरत रहे यह सुनिश्चित करने हमारा एक प्रयास है। इस अभियान को समाज के प्रबुद्धवर्ग का सहयोग और मार्गदर्शन लेते हुए आगे बढ़ाएंगे।