featured image

योग के माध्यम से देश में परिवर्तन की लहर चलाने वाले प्रसिद्ध योग गुरु बाबा रामदेव से प्रदेश के शिक्षा एवं धर्मस्व,संस्कृति मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने मुलाकात कर प्रदेश के विभिन्न विषयों पर उनसे चर्चा की.आधे घंटे चली इस मुलाक़ात में प्रमुख रूप से उन्होंने छत्तीसगढ़ के स्कूलों में योग शिक्षा प्रदान किये जाने की जानकारी दी साथ ही उनसे भारतीय संस्कृति के अनुरूप और बेहतर संस्कारिक शिक्षा प्रदान करने हेतु सुझाव मांगा.

अपने एक दिवसीय रायपुर प्रवास के पश्चात आम यात्रियों की तरह ट्रेन से नागपुर लौट रहे बाबा रामदेव जी से श्री अग्रवाल ने भी सरलता और सहजता के साथ रेलवे स्टेशन के यात्री प्रतीक्षालय में भेट की.बातचीत में श्री अग्रवाल प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था के संबंध अपनी बात कही और उन्हें स्कूली बच्चों को मुफ्त किताबें, मुफ्त स्कूल ड्रेस, व गरीब बालिकाओं को मुफ्त साईकल प्रदान किये की जानकारी दी.और उन्होंने कहा की हम शिक्षा व्यवस्था को और बेहतर करने का प्रयास कर रहे है.शिक्षा के मामले में आदिवासी अंचलों का विशेष ध्यान रखने की बात भी उन्हें बताई और कहा की हमारी मंशा योग शिक्षा को और भी बेहतर और वृहद रूप में स्कूली बच्चों को प्रदान करने की है.

बाबा रामदेव से राजिम कुंभ और सिरपुर के साथ ही पुरातात्विक महत्त्व के  विषय पर भी बातचीत हुई.श्री अग्रवाल ने राजिम कुंभ की महत्ता से उन्हें अवगत कराया और बताया की प्रति वर्ष माघ पूर्णिमा से शुरू होने वाले इस राजिम कुंभ मेले में देश भर के साधू-संतों का आगमन होता है.साथ ही सिरपुर को विश्व धरोहर में शामिल किये जाने के प्रयासों की बात उन्हें बताई.

बाबा रामदेव ने राज्य की अच्छी शिक्षा पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा की अन्य राज्यों को भी आज छत्तीसगढ़ से प्रेरणा लेने की जरुरत है.