featured image

स्कूल शिक्षा मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा है कि स्कूल जाने योग्य सभी बच्चों को स्कूलों में दाखिला कराने समाज के हर व्यक्ति को सहयोग करना चाहिए। यह हम सब का दायित्व है कि हमारे आसपास में कोई भी बच्चा स्कूल जाने वंचित न हो। शिक्षा बच्चों का अधिकार है। उन्हें  उनका यह अधिकार मिलना ही चाहिए। इसमें सामाजिक भागीदारी का विशेष महत्व है। श्री अग्रवाल महासंमुद जिले के शासकीय उच्च प्राथमिक शाला परिसर खट्टा में आयोजित जिला स्तरीय शाला प्रवेश उत्सव को संबोधित कर रहे थे। स्कूल शिक्षा मंत्री ने इस अवसर पर प्राथमिक तथा  पूर्व माध्यमिक शाला में दाखिला लेने वाले 40 नये बच्चों का गुलाल लगाकर स्वागत किया। स्कूल शिक्षा मंत्री ने कहा कि बच्चों को स्कूल में प्रवेश दिलाने के साथ ही कक्षा बारहवीं तक उनकी नियमित उपस्थिति सुनिश्चित होनी चाहिए। इसके लिए भी समाज को आगे बढ़कर अपने सामाजिक दायित्व का निर्वहन करना होगा ताकि प्रदेश की भावी पीढ़ी पूरी तरह सजग और जिम्मेदार नागरिक बन सके।
स्कूल शिक्षा मंत्री श्री अग्रवाल ने नवप्रवेशी सभी बच्चों को निःशुल्क पाठ्यपुस्तक, गणवेश, बैग इत्यादि का भी वितरण किया गया। उन्होंने लगभग साढ़े 32 लाख के नौ विकास कार्या का लोकार्पण तथा शिलान्यास भी किया। खट्टा की प्राथमिक श्शाला में दो लाख रूपए की लागत से अहाता निर्माण, पूर्व माध्यमिक शाला खट्टा में तीन लाख रूपए की लागत से अतिरिक्त कक्ष निर्माण, प्राथमिक शाला कोकड़ी में एक लाख 80 हजार की लागत से अहाता तथा चार लाख 35 हजार की लागत से अहाता निर्माण कराने की स्वीकृति दी। इसके अलावा सरस्वती शिशु मंदिर पटेवा में अहाता निर्माण के लिए तीन लाख, शासकीय प्राथमिक शाला बनपचरी में अहाता निर्माण के लिए छह लाख तथा खट्टा स्थित पंचायत भवन में 12 लाख की लागत से राजीव गांधी सेवा केंद्र भवन निर्मित कराने की स्वीकृति भी दी गई।  उन्होंने बताया कि राज्य शासन द्वारा महासमुंद जिले  में इस नए शिक्षा सत्र से पांच प्राथमिक श्शाला तथा सात पूर्व माध्यमिक शाला राजीव गांधी शिक्षा मिशन के तहत खोलने अनुमति प्रदान की गई है।
कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा मंत्री ने शाला प्रबंध समिति के सदस्यों को शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 के तहत छह से 14 वर्ष की आयु के सभी बच्चों को स्कूल में प्रवेश दिलाने तथा प्रारंभिक शिक्षा पूर्ण कराने तक स्कूलों में ठहराव सुनिश्चित करने के लिए शपथ भी दिलाई। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए महासमुंद लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्री चंदूलाल साहू ने जिले के सभी बच्चों को शाला से जोड़ने पर बल दिया। ताकि बच्चे पढ़-लिखकर जागरूक नागरिक बन सकें और जिले तथा प्रदेश के विकास में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर सके। जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती सरला कोसरिया तथा पूर्व राज्य मंत्री श्री पूनम चंद्राकर ने अपने उद्बोधन में सभी नवप्रवेशी बच्चों को उनके बेहतर भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं।
कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्रीमती किरण ढ़ीढ़ी, स्काऊट एवं गाईड के जिला अध्यक्ष श्री ऐतराम साहू, सांसद प्रतिनिधि श्री मोती साहू, श्री राकेश चंद्राकर, श्री चंद्रहास चंद्राकर, पार्षद श्री महेंद्र जैन इत्यादि उपस्थित थे। इस अवसर पर स्वागत भाषण कलेक्टर श्रीमती आर.शंगीता ने दिया। उन्होंने बताया कि जिले में 17 जून से 15 जुलाई तक शाला प्रवेशोत्सव मनाया जा रहा है। इस शैक्षणिक सत्र में शिक्षा की गुणवत्ता बनाए रखने के लिए हर संभव प्रयास करने की बात कलेक्टर ने कही है।
दसवीं-बारहवीं परीक्षा की प्रावीण्य सूची में शामिल विद्यार्थी सम्मानित
स्कूल शिक्षा मंत्री ने खट्टा में आयोजित जिला स्तरीय शाला प्रवेशोत्सव के दौरान छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आयोजित हायर सेकेण्डरी परीक्षा में टॉप 20 में स्थान बनाने वाले महासमुंद जिले छह विद्यार्थियांे को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। इनमें अविनाश राज साहू, अरशद राजा, टीकम प्रसाद, नवीन कुमार, प्रेमलाल साहू तथा टीकमचंद पटेल शामिल हैं। इसके अलावा हाई स्कूल परीक्षा की प्रावीण्य सूची में आयी छात्रा कुमारी ख्याति पुहुप को प्रमाण पत्र देकर प्रोत्साहित किया। उन्होंने इस अवसर पर इंस्पायर अवार्ड 2012 से सम्मानित छात्र डिगेश्वर को भी प्रमाण पत्र प्रदान कर उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी।