featured image

●मन मे ठान ले तो विद्यार्थी हर लक्ष्य को कर जाएंगे पार -बृजमोहन 
कृषि-सिंचाई मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने नवांकुर संस्था द्वारा आयोजित प्रतियोगी परीक्षाओं के निःशुल्क क्रेस कोर्स शुभारंभ के दौरान विद्यार्थियों से कही यह बात।
रायपुर/27/04/2018 | छत्तीसगढ़ प्रदेश के कृषि एवं सिंचाई मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि विद्यार्थियों के लिए सबसे महत्वपूर्ण है उनका आत्मविश्वास। आत्मविश्वास बरकरार रहेगा तो वे सभी कठिनाइयों को पार करते हुए सफलता अर्जित कर सकेंगे। उन्होंने यह बात नवांकुर फाउंडेशन द्वारा जेईई,नीट, सीजी पीएटी,पीईटी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये आयोजित फ्री क्रैश कोर्स के शुभारंभ के दौरान कही । यह आयोजन जे एन पांडे स्कूल के सभागार में संपन्न हुआ।
 
श्री अग्रवाल ने उपस्थित विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि हर विद्यार्थी में प्रतिभा होती है परंतु निखरने का अवसर कुछ लोगों को मिल पाता है। उन्हें सही मार्गदर्शन नही मिल पाता। ऐसे में शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करने वाली सामाजिक संस्थाएं समाज के बीच से प्रतिभाओं को निकालकर आगे बढ़ने प्रेरित करें तो निश्चित रुप से एक अलग ही दृश्य दिखाई देगा। उन्होंने विद्यार्थियों से कहा कि अगर मन में ठान लिया जाए कि कुछ कर गुजरना है तो दुनिया की कोई ताकत आपको नहीं रोक सकती। सकारात्मक सोच के साथ अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ते रहें निश्चित ही सफलता आपके कदमों पर होगी।
 
श्री अग्रवाल ने कहा कि नूतन स्कूल टिकरा पारा, जेएन पांडे स्कूल,भाठागांव स्कूल सहित विभिन्न स्कूलों में मानवता चेरिटेबल ट्रस्ट द्वारा भी विद्यार्थियों को प्रतियोगी परीक्षाओं में आगे बढ़ने के लिए शिक्षा दी जाती है। इसके पीछे उनका मकसद समाज के कमजोर तबके से आने वाले विद्यार्थियों को आगे बढ़ाना है। इस अवसर पर संस्था के संरक्षक जसवंत अग्रवाल अध्यक्ष हेमंत मुदलियार मनोज जी रितेश जोशी देवेंद्र वर्मा खिलेश्वर निषाद धीरज यदु जाकिर भाई आदि मौजूद थे।
 
●कोई जरूरी नही दिल्ली-कोटा में कोचिंग लेने वाले ही सफल हो।
बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि आज के दौर में कोई जरूरी नहीं है कि कोटा व दिल्ली में जाकर, लाखों रुपए खर्च कर पढ़ने वालों को निश्चित ही अच्छी नौकरी यह अच्छी प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता मीले। इंटरनेट के इस युग मे थोड़ा मार्गदर्शन मीले तो स्व अध्ययन से भी लोग सफलता की सीढ़ी चढ़ सकते है। उन महान लोगों की सूची बहुत लंबी है जिन्होंने अभाव जीवन जीते हुए बड़े-बड़े काम किये है और इतिहास में अपना नाम दर्ज कराया है।